Subscribe for Newsletter
Festivals essay
Dussehra Essay

Dussera-दशहरा

It’s a very important place of Dussehra in the land of festivals India. It is a symbol of victory of truth over unreal.

dussehra is started celebrated before 18 days of diwali when the Lord Shri Ram slaughter the Monster King Ravana. This day was the 10th day of shukla paksh of ashvin month of Hindi calendar. That’s why in all over India it is trend to kindling the effigy of the Ravan, his Son Meghnad, and his brother Kumbhakaran on this day. After 18 day Diwali is celebrated when Shri Ram come back to Ayodhya with his wife Seeta and brother Lakshman after spending 14 years in the forest.

This day is celebrated with gladness and glee. This day is the 10th day of Shardeeya Navratre of maa Durga. Every wish come true if one worship maa Durga on this day.

Dussehra senses power and bravery to the menkind.

In Indian culture maa durga is worshiped to win over the enemy. In ancient time the kings started his journey for battle. On this day maa Durga departed them for battle and deliver the gift of victory.


दशहरा

त्योहारों की भूमि भारतवर्ष में दशहरा अत्यंत ही महत्वपूर्ण स्थान रखता है। यह पर्व असत्य पर सत्य की विजय का पर्व है।


दीपावली से १८ दिन पहले दशहरा मनाने की प्रथा तब प्रारंभ हुई जब भगवान् श्री राम ने अधर्मी राक्षस रावण का वध किया।  यह तिथि थी अश्विन मास के शुक्ल पक्ष की दशमी। इसी कारण इस दिन पूरे भारत में जगह - जगह रावण, उसके पुत्र मेघनाद तथा उसके भाई कुम्भकरण के पुतले फूके जाते है।  इसके १ ८ दिन के बाद दीपावली मनाई जाती है जब 14 वर्ष का वनवास पूर्ण कर भगवान् श्री राम माँ सीता तथा लक्ष्मण के साथ अयोध्या वापस लौटे।

इस दिन माँ दुर्गा की पूजा भी पूरे हर्षोल्लास के साथ की जाती है। यह दिन माँ दुर्गा के शारदीय नवरात्रे का दशम दिवस होता है। माँ दुर्गा के शारदीय नवरात्रे पूर्ण कर दसवे दिन माँ की पूजा की जाती है। इस दिन माँ दुर्गा की अर्चना करने से सर्व कामना सिद्ध होती है।  

दशहरा का पर्व वीरता तथा शक्ति का बोध कराता है। भारतीय संस्कृति में शत्रु पर विजय पाने के लिए देवी उपासना की जाती है। प्राचीन काल में राजा युद्ध के लिए इसी दिन प्रस्थान करते थे।

इस दिन माँ दुर्गा उन्हें विजय का वरदान दे कर स्वयं युद्ध के लिए विदा करती है।
 

UPCOMING EVENTS
  Purnima Shradh 2018, 24 September 2018, Monday
  When is Somvati Amavasya 2018, 8 October 2018, Monday
Festival Calendar
 
Sun Sign Details

Aries

Taurus

Gemini

Cancer

Leo

Virgo

Libra

Scorpio

Sagittarius

Capricorn

Aquarius

Pisces
Free Numerology
Enter Your Name :
Enter Your Date of Birth :
 
Dream Analysis
 
 
 
Copyright © MyGuru.in. All Rights Reserved.
Site By rpgwebsolutions.com