Subscribe for Newsletter
Festival - Paush Purnima 2019~पौष पूर्णिमा 2019

Paush Purnima~पौष पूर्णिमा  in year 2019 will be celebrated on Monday, 21st January 2019.

Purnima (also called Poornima, Pournima) is the Indian word for Full Moon. According to Hindi vikrami samvat calender the day of Purnima is the day (Tithi) in each month in which the full moon occurs, and marks the division in each month between the two lunar fortnights (Paksha). The Shukla (bright) Paksha is the fortnight before, and the Krishna (dark) Paksha is the fortnight after, Purnima. This day is very important in Indian culture, The customs, rituals, fast and festival dates are also based on Panchang. Deties are worshiped on the full moon day, Satya Narayana fast is also observed on all full moon days. Maa Shakambhari Jyanti is also celebrated on the full moon day of Paush. Followers of Jainism start Pushubhishek Yatra on this day. On this day, bathing in Dashashvmedha and in Triveni Sangam of Prayag at Benares is very important.

पूर्णिमा जोकि पूरणमासी और पुणमासी के नाम से भी जानी जाती है। पूर्णिमा हिंदी विक्रमी सम्वत पंचांग के अनुसार प्रत्येक मास की 15वीं और शुक्लपक्ष की अंतिम तिथि होती है जिस दिन चंद्रमा आकाश में पूरा होता है। पूर्णिमा किसी मास के दोनों पक्षों शुक्ल तथा कृष्ण के मध्य आती है और उनको प्रदर्शित करती है। पूर्णिमा से पूर्व का दिन शुक्ल पक्ष होता है और पूर्णिमा से अगला दिन कृष्ण पक्ष होता है। इस दिन का भारतीय संस्कृति में अत्यधिक महत्व हैं यहाँ के रीति, रिवाज, व्रत और त्यौहार तिथियों पर आधारित होते है। पूर्णिमा के दिन देवताओ की पूजा होती है और सभी पूर्णिमाओं पर भगवान् सत्यनाराण की पूजा की जाती है। पौष की पूर्णिमा के दिन माँ शाकंभरी जयंती भी मनाई जाती है। जैन धर्म के अनुयायी इस दिन पुष्यभिषेक यात्रा प्रारंभ करते हैं। इस दिन बनारस में दशाश्वमेध तथा प्रयाग में त्रिवेणी संगम पर स्नान को भी बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है।

 
Comments:
 
Sun Sign Details

Aries

Taurus

Gemini

Cancer

Leo

Virgo

Libra

Scorpio

Sagittarius

Capricorn

Aquarius

Pisces
Free Numerology
Enter Your Name :
Enter Your Date of Birth :
Ringtones
Find More
Copyright © MyGuru.in. All Rights Reserved.
Site By rpgwebsolutions.com