Home » Lal Kitab Remedies » भाग्य अंक का मंत्र

भाग्य अंक का मंत्र

हमारी जन्म तारीख का योग भाग्यांक कहलाता हैं यह भाग्यांक बहुत सी  जानकारी व्यक्ति विशेष के बारे में देता हैं प्रत्येक भाग्यांक का  एक निश्चित मंत्र होता हैं जिस को प्रतिदिन  जपने से भाग्य प्रबल  होता हैं  यहाँ प्रत्येक भाग्यांकानुसार मंत्र दिया जा रहा हैं आशा हैं पाठकगण इनसे लाभान्वित होंगे |

भाग्यांक १ का मंत्र हैं "ॐ"हैं जिसे १० बार प्रतिदिन जपना चाहिए इस अंक के इष्ट देवता "श्री विष्णु" हैं |

भाग्यांक २ का मंत्र "श्री माँ "हैं जिसे ११ बार जपना चाहिए इस अंक के इष्ट "माँ लक्ष्मी" हैं |                   
         
भाग्यांक ३ का मंत्र "श्री राम "हैं जिसे २१ बार जपना चाहिए इस अंक के इष्ट "श्री राम " हैं |

भाग्यांक ४ का मंत्र "हरे कृष्ण "हैं जिसे ११ बार जपना चाहिए इस अंक के इष्ट "श्री कृष्ण " हैं | 

भाग्यांक ५ का मंत्र "नमः शिवाय"हैं जिसे २१ बार जपना चाहिए इस अंक के इष्ट "भगवान शंकर" हैं |

भाग्यांक ६ का मंत्र "ॐ नमः शिवाय"हैं जिसे २१ बार जपना चाहिए इस अंक के इष्ट "भगवान शंकर " हैं |

भाग्यांक ७ का मंत्र "श्री गणेशाय नमः"हैं जिसे २१ बार जपना चाहिए इस अंक के इष्ट " श्री गणेश " हैं |

भाग्यांक  ८  का मंत्र "ॐ नमो नारायणाय" हैं जिसे ११ बार जपना चाहिए इस अंक के इष्ट "श्री विष्णु "हैं |

भाग्यांक ९ का मंत्र "ॐ गं गणपतये नमः "हैं जिसे २१ बार जपना चाहिए इस अंक के इष्ट देवता "श्री गणेश "हैं |

 
 
 
Comments:
 
Posted Comments
 
"Thanks for your site which is very informative and I like it,God Krishna bless you.Dr.Ajay"
Posted By:  Dr Ajay
 
 
 
 
UPCOMING EVENTS
  Batuk Bhairav Jayanti 2021, 20 June 2021, Sunday
  Ganga Dussehra, 20 June 2021, Sunday
  Nirjala Ekadasi, 21 June 2021, Monday
  Vat Savitri Purnima Vrat, 24 June 2021, Thursday
  Vat Purnima Vrat, 24 June 2021, Thursday
  Jyeshth Purnima Vrat, 24 June 2021, Thursday
 
 
Free Numerology
Enter Your Name :
Enter Your Date of Birth :
Subscribe for Newsletter
Copyright © MyGuru.in. All Rights Reserved.
Site By rpgwebsolutions.com