Home » Article Collection » पितृ ऋण नहीं चुका सकता पुत्र

पितृ ऋण नहीं चुका सकता पुत्र

 

पुत्र अपने माता-पिता के ऋण से कभी उऋण नहीं हो सकता। स्वयं श्री कृष्ण ने अपने माता-पिता से यही कहा है। जो पुत्र अपने माता-पिता की सेवा, आदर-सम्मान के साथ नहीं करता, वह चाहे जो भी हो नरक को प्राप्त होगा।

श्री कृष्ण ने गोपियों को ज्ञान संदेश देने के लिए उद्धव जी को उनके पास भेजा था। परन्तु गोपियों के निष्काम प्रेम ने उन्हें जीत लिया। अत: निष्काम भक्ति ही सर्वश्रेष्ठ और भगवान की सुपात्रता प्राप्त करने का एकमात्र माध्यम है। कथा और सत्संग के बल पर ही रुक्मिणी ने श्रीकृष्ण को प्राप्त किया।

Comment..
 
Name:
Email:
Comment:
Posted Comments
 
"very nice artical"
Posted By:  Mahabir Prasad Pokhriyal
 
Upcoming Events
» , 27 May 2022, Friday
» , 30 May 2022, Monday
» , 30 May 2022, Monday
» , 9 June 2022, Thursday
» , 11 June 2022, Saturday
» , 30 June 2022, Thursday
Prashnawali

Ganesha Prashnawali

Ma Durga Prashnawali

Ram Prashnawali

Bhairav Prashnawali

Hanuman Prashnawali

SaiBaba Prashnawali
 
 
Free Numerology
Enter Your Name :
Enter Your Date of Birth :
 
Dream Analysis
Dream
  like Wife, Mother, Water, Snake, Fight etc.
 
Copyright © MyGuru.in. All Rights Reserved.
Site By rpgwebsolutions.com