धार्मिक स्थल
Subscribe for Newsletter
» भागवत कथा के श्रवण से ही हो जाता है मन मस्तिष्क शुद्ध 

भागवत कथा के श्रवण से ही हो जाता है मन मस्तिष्क शुद्ध

 
भागवत कथा के श्रवण से ही हो जाता है मन मस्तिष्क शुद्धInformation related to भागवत कथा के श्रवण से ही हो जाता है मन मस्तिष्क शुद्ध.

भागवत कथा ज्ञान का वह भंडार है, जिसके वाचन और सुनने से वातावरण में शुद्धि तो आती ही है। साथ ही, मन और मस्तिष्क भी स्वच्छ हो जाता है।

भागवत कथा के ज्ञान से आत्मा शुद्ध होती है और बुरे विचार अपने आप ही समाप्त हो जाते हैं। श्रीकृष्ण और सुदामा की मित्रता जगत विख्यात है। विकट परिस्थितियों में एक-दूसरे के काम आना ही मित्र धर्म है। भगवान श्रीकृष्ण ने अपने मित्र धर्म को निभाते हुए सुदामा की दरिद्रता को दूर किया।

 भागवत कथा से घर और समाज में पवित्रता बनती है, जो सुख व शांति का आधार है। भागवत कथा व गीता के ज्ञान को अपने जीवन में धारण करना चाहिए, ताकि जीवन सफल हो सके।

Comment
 
Name:
Email:
Comment:
Posted Comments
 
"That really capetrus the spirit of it. Thanks for posting."
Posted By:  Vinayak
 
Feng Shui Tips
Feng Shui tips for Love and Romance
Facing and Sitting directions
Feng Shui tips for home
View all
Lal Kitab Remedies
Mantras and remedies for the nine planets
शनिवार को घर पर नहीं लानी चाहिए ये वस्तुएं, आता है दु्र्भाग्य
Venus in Various House and Remedies
Remedy to defeat enemies
कौन सा रत्न कब पहनना चाहिए~Which Gemstone to wear and when
View all Remedies...
Prashnawali

Ganesha Prashnawali

Ma Durga Prashnawali

Ram Prashnawali

Bhairav Prashnawali

Hanuman Prashnawali

SaiBaba Prashnawali
 
 
Free Numerology
Enter Your Name :
Enter Your Date of Birth :
 
Dream Analysis
Dream
  like Wife, Mother, Water, Snake, Fight etc.
 
Find More
Copyright © MyGuru.in. All Rights Reserved.
Site By rpgwebsolutions.com